अपडेट रहें!

हर समय आपके लिए एक से एक ऑफर्स और डील बनाने में हम जुटे रहते हैं। जिन्हे सीधे आपकी डिवाईस पर वेबसाईट नोटिफिकेशन के रूप मे भेजते रहते हैं।

आपको केवल "अलाव" पर क्लिक करना है।

ऑफ़र के लिए जांच

क्या आपको यकीन है?

आप टाटा कैपिटल से विशेष ऑफ़र के लिए पात्र नहीं होंगे

विवरण प्रस्तुत करने के लिए धन्यवाद

यदि कोई विशेष ऑफ़र उपलब्ध है तो हम आपको सूचित करेंगे

प्रधान मंत्री आवास योजना (पीएमएवाई)

प्रधान मंत्री आवास योजना (पीएमएवाई) क्या है?

पीएमएवाई एक गवर्नमेंट बैक्ड क्रेडिट लिंक्ड सब्सिडी स्कीम (सीएलएसएस) है, जिसका उद्देश्य वर्ष 2022. तक सभी के लिए किफायती घर उपलब्ध कराना है मूलरूप से आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग (ईडबल्यएस) और कम आय समूह (एलआईजी) के लिए घर उपलब्ध कराने के लिए प्रतिबद्ध, इस स्कीम का विस्तार 1 जनवरी, 2017, को मध्य आय समूह (एमआईजी) के लोगों के लिए भी किया गया था।

पीएमएवाई की विशेषताएं/फायदे और उद्देश्य

पीएमएवाई स्कीम की विशेषताएं या लाभ निम्नलिखित हैं –

  • सब्सिडी के लाभ

शायद पीएमएवाई स्कीम का एक सबसे महत्वपूर्ण फायदा प्रधानमंत्री आवास योजना सब्सिडी है जिसमें 2.67 लाख रूपए तक की सब्सिडी मिल सकती है। पीएमएवाई की पात्रता को पूरा करने वाले व्यक्ति अपनी स्थिति के हिसाब से साझेदारी में मिलने वाले किफायती आवास लोन, सबसिडी वाला व्यक्तिगत गृह निर्माण या पुराने घर को बेहतर बनाने और झुग्गी में रहने वाले लोगों के लिए पुनर्वास लोन का आनंद ले सकते हैं।

  • लोन की विस्तारित अवधि

पीएमएवाई के अंतर्गत लाभार्थियों को 20 वर्षों तक की अवधि विस्तारित के लिए लोन मिलता है। परिणामस्वरूप, लाभार्थी कम अदायगी वाली किस्तों का आनंद ले सकते हैं।

  • लोन की कोई सीमा नहीं।

पीएमएवाई स्कीम में लोन के रूप में ली जाने वाली धनराशि पर कोई सीमा तय नहीं की गई है। इसलिए, लाभार्थी अपनी जरूरत के मुताबिक आवास लोन ले सकते हैं, बशर्ते कि वे अपनी समय सीमा के अंत तक इसकी अदायगी करने में सक्षम हो सकें।

  • अतिरिक्त लोन का विकल्प

ऐसे लाभार्थी जिन्हें पीएमएवाई के अंतर्गत प्रस्तावित लोन से अधिक के आवासीय लोन की जरूरत है, वे अतिरिक्त लोन के लिए आवेदन कर सकते हैं। यहां ध्यान देने वाली सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि इस तरह के लोन गैर-सबसिडी वाले ब्याज दर पर दिए जाएंगे और उधारकर्ता से सामान्य प्रोसेसिंग शुल्क लिया जाएगा।

  • महिलाओं और अल्पसंख्यकों के लिए फायदे

ईडब्ल्यूएस और एलआईजी श्रेणियों के अंतर्गत अनिवार्य उपनियम और एमआईजी I और एमआईजी II श्रेणियों के अंतर्गत वैकल्पिक उपनियम के मुताबिक पीएमएवाई स्कीम के अंतर्गत संपत्ति की मालकिन या सह-मालकिन महिला को बनाया जाता है। हालांकि, वरीयता प्रावधान वैतनिक महिला, विधवा, किन्नर, दिव्यांग और वरिष्ठ नागरिकों के लिए उपलब्ध हैं। उदाहरण के लिए - अगर कोई वरिष्ठ नागरिक इस स्कीम के अंतर्गत आवेदन करते हैं, तो उन्हें ग्राउंड फ्लोर एकोमोडेशन के लिए आश्वस्त किया जा सकता है।

  • पर्यावरण के अनुकूल निर्माण

पीएमएवाई योजना के तहत बनाए गए घरों को इको फ्रेंडली निर्माण तकनीक और सामग्री का उपयोग करके किया जाता है। इससे पर्यावरण प्रदूषण कम होगा और निर्माण स्थल में और उसके आसपास न्यूनतम क्षति सुनिश्चित होगी।

प्रधान मंत्री आवास योजना - शहरी (पीएमएवाई-यू)

2015, प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) या पीएमएवाई (यू) केंद्र सरकार द्वारा संचालित एक योजना है, जिसका उद्देश्य 2015 से 2022. तक के भीतर स्थित शहरी क्षेत्रों में सभी आयु समूहों के लिए किफायती घर उपलब्ध कराना है

पीएमएवाई-यू के बारे में यहां कुछ महत्वपूर्ण तथ्य हैं –

  • स्वीकृत घरों की संख्या – 88 लाख

  • निर्मित घरों की संख्या – 26 लाख

  • दखल किए गए घरों की संख्या – 24 लाख

  • कुल निवेश – रू. 5.20 लाख करोड़

  • केंद्र द्वारा स्वीकृत सहयोग – रू. 1.37 लाख करोड़

  • केंद्र द्वारा उपलब्ध कराया गया सहयोग – रू. 52,000 लाख करोड़ से अधिक

प्रधान मंत्री आवास योजना - ग्रामीण (पीएमएवाई-जी)

प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) या पीएमएवाई (जी) केंद्र सरकार शुरू किया गया सामुदायिक कल्याण योजना है जिसका उद्देश्य वर्ष 2022. तक भारत के ग्रामीण क्षेत्रों में ‘कच्चे’ झोपड़ियों में रहने वाले लोगों को बुनियादी सुविधाओं के साथ पक्का घर उपलब्ध करवाना है

पीएमएवाई-जी के बारे में यहां कुछ महत्वपूर्ण तथ्य हैं –

  • स्वीकृत घरों की संख्या – 1.23 करोड़

  • पूर्ण किए