अपडेट रहें!

हर समय आपके लिए एक से एक ऑफर्स और डील बनाने में हम जुटे रहते हैं। जिन्हे सीधे आपकी डिवाईस पर वेबसाईट नोटिफिकेशन के रूप मे भेजते रहते हैं।

आपको केवल "अलाव" पर क्लिक करना है।

ऑफ़र के लिए जांच

क्या आपको यकीन है?

आप टाटा कैपिटल से विशेष ऑफ़र के लिए पात्र नहीं होंगे

विवरण प्रस्तुत करने के लिए धन्यवाद

यदि कोई विशेष ऑफ़र उपलब्ध है तो हम आपको सूचित करेंगे

पर्सनल लोन ब्याज दर और प्रभार

पर्सनल लोन पर ब्याज दर क्या है?

पर्सनल लोन पर ब्याज दर वह राशि निर्धारित करता है जिसे आपको अपने लोन के बदले बराबर मासिक किश्त (ईएमआई) के तौर पर चुकाना होगा। पर्सनल लोन पर ब्याज की दरें अधिक या कम हो सकती हैं। इसके अलावा, आपके सिबिल स्कोर, आय, लोन चुकाने की क्षमता, उधार ली जाने वाली राशि, लोन अवधि, नियोक्ता की साख, नियोक्ता की प्रकृति, वित्तीय इतिहास, ऋण-आय अनुपात और अन्य पर्सनल लोन पात्रता मानदंड जैसे कारकों के अनुसार हर एक उधारकर्ता के लिए दरें अलग-अलग हो सकती हैं।

The more attractive interest rates you receive, the smaller EMI you are required to pay. With Tata Capital, you can get competitive and affordable interest on personal loans. Our interest rates are one of the lowest in the industry, starting at just 10.99%.

पर्सनल लोन पर ब्याज की वर्तमान दर क्या है?

पर्सनल लोन पर ब्याज दर इस आधार पर कि आप वित्तीय संस्थान की आवश्यकताओं को कैसे पूरा करते हैं 101% और 102% के बीच में कहीं भी अलग अलग हो सकता है। लेकिन, महामारी से प्रभावित आर्थिक मंदी के कारण, पर्सनल लोन की ब्याज दरें काम हुई हैं। आइए जानते हैं क्यों?

In response to the countrywide financial crisis, the Reserve Bank of India (RBI) slashed the repo rate by 40 basis points, keeping it at 4%. Here, the repo rate represents the rate at which the central bank lends money to banks and NBFCs. Whenever RBI cuts down the repo rate, the costs at which financial institutions borrow reduce, translating into lower personal loan rates for borrowers.

पर्सनल लोन पर ब्याज दर इतना महत्वपूर्ण क्यों है?

पर्सनल लोन पर ब्याज ध्यान देने योग्य महत्वपूर्ण कारक है क्योंकि यह लोन का कुल लागत निर्धारित करता है। आइए देखते हैं कैसे।

हर लोन ईएमआई में दो घटक शामिल होते हैं - मूलधन और ब्याज। यदि आपका कुल ब्याज राशि अधिक है तो यह सीधे आपकी भुगतान की जाने वाली कुल राशि को बढ़ाएगी।

इसी कारण पर्सनल लोन ईएमआई जो आपको निर्धारित लोन अवधि पर अपना मूलधन राशि चुकाने के लिए भुगतान करना होता है लागू नवीनतम पर्सनल लोन ब्याज की दरों द्वारा संचालित होता है। यहाँ, कम दर आपके कुल ब्याज के भुगतान को कम कर देगा, और इस तरह लोन अवधि के दौरान ऋणदाता को कम ईएमआई चुकाना होगा।

आपके पर्सनल लोन पर ब्याज की दर का हिसाब कैसे लगाया जाता है?

पर्सनल लोन ब्याज का हिसाब एक समान दर और बैलेंस को घटाने वाली पद्धति का उपयोग करके किया जाता है।

एक समान दर की पद्धति में, भुगतान किया गया ब्याज एक जैसा रहता है। कुल देय ब्याज का हिसाब लोन अवधि के दौरान उधर ली गयी राशि पर लगाया जाता है। इसलिए, पर्सनल लोन की दरें एक जैसी रहती हैं और आपके द्वारा मासिक किश्त का भुगतान करने पर मूलधन राशि के कम होने के बाद भी कम नहीं होता है।

इसके विपरीत, बैलेंस को घटाने वाली पद्धति में ब्याज दर का हिसाब बक़ाया बैलेंस राशि पर लगाया जाता है जो हर बार घट जाता है जब आप ईएमआई का भुगतान करते हैं।

पर्सनल लोन कॅल्क्युलेशन पर ब्याज के लिए गणितीय फ़ॉर्मूला इस प्रकार है:

समान दर

EMI = (मूलधन + कुल भुगतान योग्य ब्याज) / लोन अवधि महीनों में)

यहाँ, कुल देय ब्याज = मूलधन x पर्सनल लोन की दर x लोन अवधि/100

बैलेंस कम करने का तरीका

EMI= [P x R x (1+R)^N]/[(1+R)^ (N-1)]

जहाँ P = मूलधन राशि

N = महीनो में लोन अवधि

R = ब्याज दर

पर्सनल लोन ब्याज दर को प्रभावित करने वाली चीज़ें क्या हैं?

निम्नलिखित कारक आपके नवीनतम पर्सनल लोन ब्याज की दरों को प्रभावित कर सकते हैं।

  • सिबिल स्कोर

आपका सिबिल स्कोर जो आपकी लोन चुकाने की क्षमता को दर्शाता है कम ब्याज दर पर पर्सनल लोन पाने में निर्णायक भूमिका निभाता है। बढ़िया सिबिल रेटिंग के साथ, आप अधिक आकर्षक ब्याज दर पा सकते हैं।

  • लोन चुकाने की हिस्ट्री

आपके सिबिल स्कोर के अलावा, ऋणदाता आपके मौजूदा पर्सनल लोन की दर निर्धारित करने के लिए आपके पिछले क्रेडिट रिकॉर्ड की समीक्षा करते हैं। बिना ईएमआई डिफ़ॉल्ट वाली साफ़ सुथरी क्रेडिट हिस्ट्री और नियमित भुगतान को वरीयता दी जाती है।

  • आय

आपकी आय आपके पर्सनल लोन की दरों को बहुत हद तक निर्धारित करता है। यदि आपका संबंध उच्च-आय वाले ब्रैकेट से है तो ऋणदाता आपको समय पर लोन चुकाने वाला मानता है और आपको अधिक सस्ती ब्याज दरें देता है।

  • Employer’s reputation

पर्सनल लोन पर नवीनतम ब्याज दरें जो ऋणदाता आपको पेश करता है आपके नियोक्ता की साख पर निर्भर करता है। यदि आप किसी विश्वसनीय संगठन के साथ काम करते हैं तो ऋणदाता आपको ईएमआई में डिफ़ॉल्ट करने वाले के तौर कम संभावना देखता है और अधिक आकर्षक दरें पेश करता है।

  • Debt-to-income ratio

यदि आप एक से अधिक लोन और क्रेडिट कार्ड की सर्विस कर रहे हैं और आप पर जो ऋण है वह काफी हद तक आपकी मासिक आय का बड़ा हिस्सा खपत कर लेता है तो ऐसी स्थिति में ऋणदाता आपको अधिक जोखिम वाला उधारकर्ता मानता है। यह आप के पर्सनल लोन की ब्याज दरों को प्रभावित कर सकता है।

पर्सनल लोन पर फिक्स्ड और फ्लोटिंग ब्याज की दरें क्या हैं?

फिक्स्ड ब्याज दर

फिक्स्ड दर वाले लोन में, ऋणदाता आपसे पूरी अवधि के दौरान पर्सनल लोन पर एक निश्चित दर लगाते हैं। यहाँ, आपका कुल देय ब्याज और ईएमआई फिक्स्ड रहता है।

फ्लोटिंग ब्याज दर

फ्लोटिंग या ब्याज दरें बदलती आर्थिक स्थितियों से प्रभावित होती हैं। यहाँ, आप शुरू में कम ब्याज पर पर्सनल लोन ले सकते हैं लेकिन ऋणदाता रेपो रेट के अनुसार दरों में संशोधन कर सकते हैं। इसलिए, आपका देय ब्याज पूरी अवधि के दौरान बदलता रह सकता है।

फिक्स्ड और फ्लोटिंग दरें दोनों के अपने लाभ होते हैं। फिक्स्ड दरें आपके ईएमआई को एक समान रखते हैं जबकि फ्लोटिंग दर वाले लोन में आप काफ़ी हद तक कम किश्त का भुगतान कर सकते हैं। लेकिन यदि मौजूदा पर्सनल लोन पर ब्याज दरें अचानक बढ़ती हैं तो आप को भविष्य में अधिक ईएमआई देने का जोखिम हो सकता है।

वेतनभोगी और स्व नियोजित ब्याज दर तालिका

पर्सनल लोन

वैतनिक कोई भी राशि 10.99%* से आगे
स्व नियोजित कोई भी राशि 10.99%* से आगे

*अंतिम आरओआई क्रेडिट जांच और अन्य पैरामीटर के आधार पर अलग हो सकता है

Getting a low interest personal loan is preferable for reducing your interest outgo and overall costs. Availability of loans can depend on numerous factors; make sure to consider them before applying. You can also use a पर्सनल लोन ईएमआई कैलकुलेटर to understand to calculate your principal EMIs and interest payable and plan your repayment.

पर्सनल लोन के शुल्क

प्रक्रिया शुल्क

The processing fee is a non-refundable fee levied by lenders while processing your personal loan application. You are charged this one-time fee even if the loan does not get sanctioned. At Tata Capital, you are charged up to 2.75% of the loan amount + GST.

ब्याज दंड/अतिरिक्त ब्याज

Penal interest is the rate of interest lenders charge on a delayed EMI payment. You are then required to pay the outstanding instalment inclusive of the additional interest on personal loan. The penal interest at Tata Capital is levied at 3% on the overdue amount monthly along with the GST charges.

निम्नलिखित मिश्रित शुल्क भी पर्सनल लोन के अंतर्गत शामिल होते हैं -

विविध प्रभार

बाउंस शुल्क

यह वह शुल्क हैं जो ईएमआई बाउन्स पर लगाए जाते हैं। अन्य शब्दों में, यह शुल्क तब लगाए जाते हैं जब आपके बैंक खाता में अपर्याप्त फंड्स न होने के कारण आपका पर्सनल लोन ईएमआई भुगतान नहीं हो पाता है। टाटा कैपिटल में, आपको हर एक अस्वीकृत चेक/पेमेंट इंस्ट्रूमेंट के लिए रूपए 600 जीएसटी शुल्क के साथ अदा करना होगा।

मैंडेट रिजेक्शन सेवा शुल्क

मैंडेट रिजेक्शन शुल्क वह शुल्क है जो ऋणदाता के किसी सेवा के अस्वीकरण पर वसूला जाता है। टाटा कैपिटल रूपए 101 + जीएसटी का मामूली राशि लेता है। यह शुल्क आपके ईएमआई की देय तिथि पर लागू होगा यदि खाता में दिए गए पोस्ट-डेटेड चेक के समाप्त होने के बाद सक्रिय मैंडेट नहीं होता है। यह शुल्क कर महीने लागू होगा जब तक कि खाता से सक्रिय मैंडेट लिंक नहीं किया जाता।

CCOD वार्षिक रखरखाव शुल्क

सीसीओडी वार्षिक रखरखाव शुल्क वैसे शुल्क हैं जो उन पर लगाए जाते हैं जिन्होंने फ्लेक्सिबल फंडिंग ऑप्शन जैसे कैश क्रेडिट या ओवरड्राफ्ट चुना है। यह शुल्क ओवरड्राफ्ट के मेंटेनेंस के लिए लगाया जाता है।

At Tata Capital, 0.25% on Dropline Amount along with the GST or Rs. 1000, whichever is higher per year, will be deducted from the limit and shall be payable at the end of the 13th month.

आउटस्टेशन कलेक्शन शुल्क

यदि भुगतान के लिए आपके द्वारा जारी चेक गैर-स्थानीय शाखा का है तो ऋणदाता इस तरह के चेक के कलेक्शन के लिए बाहरी वसूली शुल्क वसूलेंगे। टाटा कैपिटल प्रति पुनर्भुगतान अवधि रूपए 100 + जीएसटी लेगा।

खातों की स्टेटमैंट्स

ऋणदाता आपके खातों का स्टेटमेंट - दी गयी अवधि के दौरान आपके बैंक खाता से किए गए सभी लेन-देन की सूची वाला बैंक स्टेटमेंट जारी करने के लिए कुछ राशि लेंगे। टाटा कैपिटल में, केवल हार्ड कॉपी के लिए ही शुल्क लिया जाएगा और सॉफ्ट कॉपी मुफ्त होगा। ब्रांच वाक-इन के लिए, आपसे रूपए 250 + जीएसटी लिया जाएगा।

ऋण रद्द करने के लिए शुल्क

If you wish to cancel your personal loan following the process of loan disbursement, the lender will charge a loan cancellation charge. Tata Capital levies 2% of the loan amount or Rs. 5,750, whichever is higher and the GST charges.

उपकरण स्वैप शुल्क

यदि आप अपने पर्सनल लोन की देनदारी या कैश फ्लो किसी और फाइनेंसियल इंस्ट्रूमेंट के साथ बदलना या अदल-बदल करना चाहते हैं तो आप इंस्ट्रूमेंट स्वैप शुल्क अदा करने के बाद ऐसा कर सकते हैं। टाटा कैपिटल में, आपसे रूपए 550 + जीएसटी लिया जाएगा।

डुप्लीकेट रीपेमेंट अनुसूची

आपका ऋणदाता पुनर्भुगतान या परिशोधन शेड्यूल - एक तालिका जो यह दिखाता है कि आपका ऋण किस तरह समय के साथ बदलता है। यदि, किसी कारण, आपको इस शेड्यूल के डुप्लीकेट की ज़रुरत है तो आप नया के लिए आवेदन कर सकते हैं जो हार्ड और सॉफ्ट कॉपी दोनों में उपलब्ध है। सॉफ्ट कॉपी मुफ्त है जबकि हार्ड कॉपी के लिए कुछ फ़ीस ली जाएगी।

टाटा कैपिटल ब्रांच वाक-इन के लिए रूपए 550 और जीएसटी शुल्क लेता है।

डुप्लीकेट NOC

यदि आपको किसी कारण नो ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट चाहिए तो, आपका ऋणदाता आप द्वारा कुछ ख़ास फ़ीस जमा करने के बाद नया जारी करेगा। टाटा कैपिटल में, आपको रूपए 550 और जीएसटी शुल्क अदा करना होगा।

पोस्ट डेटेड चेक शुल्क

यदि आप पोस्ट-डेटेड चेक - वह चेक जिसमें उल्लेखित चेक उस तिथि के बाद का होता है जिसमें चेक ड्रा किया जाता है का उपयोग करके ईएमआई भुगतान करते हैं तो आपसे पोस्ट-डेटेड चेक के नाम से शुल्क लिया जाएगा। टाटा कैपिटल पोस्ट-डेटेड चेक के माध्यम से भुगतान करने पर रूपए 850 + जीएसटी लेता है।

पर्सनल लोन फोरक्लोज़र और प्री-पेमेंट पार्ट पेमेंट शुल्क

आंशिक भुगतान खर्चे

पहले 6 महीनों के दौरान किसी आंशिक भुगतान की अनुमति नहीं होगी (लॉक-इन अवधि)।

वर्ष में एक बार आंशिक पूर्व भुगतान की अनुमति है और दो आंशिक पूर्व भुगतानों के बीच कम से कम छह महीनों का अंतर होना चाहिए।

एक वित्तीय वर्ष में आंशिक पूर्व भुगतान के रूप में बकाया मूलधन का अधिकतम 50% की अनुमति है

2.5% के आंशिक पूर्वभुगतान शुल्क + लागू कर मूलधन बक़ाया के 25% से अधिक की राशि पर लागू होगा।

 

फोरक्लोज़र शुल्क

फोरक्लोज़र के समय बकाया मूलधन का 4.5% + GST

6 महीनों के अंदर लोन बंद करने के लिए पुरोबंध शुल्क 6.5% + जीएसटी होगा

यदि आंशिक पूर्व भुगतान के बाद 6 महीने के भीतर फ़ोरक्लोज़र करते हैं:

पुरोबंध शुल्क पुरोबंध के समय मूलधन बक़ाया का 4.5% + जीएसटी + आंशिक पूर्व भुगतान राशि होगा

टॉप-अप के लिए पुरोबंध शुल्क

फ़ोर्क्लोज़र के समय बकाया मूलधन पर 2.50% + जीएसटी

फोरक्लोज़र शुल्क लेने होंगे यदि नई दर मौजुदा दर से कम है।

लॉक-इन समय के दौरान किए गए किसी भी पूर्व भुगतान/फ़ोर्क्लोज़र करने पर 4.5% का पूर्व भुगतान/फ़ोर्क्लोज़र शुल्क + बकाया मूलधन पर लागू कर देने होंगे

CCOD कारणों मे फोरक्लोज़र शुल्क

ड्रॉप डाउन सीमा राशि + GST पर 4.5%

लॉक-इन समय के दौरान किए गए किसी भी पूर्व भुगतान/फ़ोर्क्लोज़र करने पर ऊपर (a) में दर्शाए गए पूर्व भुगतान/फ़ोर्क्लोज़र शुल्क के अलावा अतिरिक्त 2% + ड्रॉप डाउन सीमा पर लागू कर देने होंगे

टर्म लोन फैसिलिटी पर फ़ोरक्लोज़र शुल्क

फ़ोर्क्लोज़र के समय बकाया मूलधन पर 4.5% + जीएसटी

यदि कर्ज लेने वाला व्यक्ति आंशिक पूर्व भुगतान करने के 6 महीनों के भीतर इस सुविधा को बंद करता है, तो बकाया मूलधन और आंशिक पूर्व भुगतान राशि पर 4.5% का फ़ोरक्लोज़र शुल्क + लागू कर लिया जाएगा।