अपडेट रहें!

हर समय आपके लिए एक से एक ऑफर्स और डील बनाने में हम जुटे रहते हैं। जिन्हे सीधे आपकी डिवाईस पर वेबसाईट नोटिफिकेशन के रूप मे भेजते रहते हैं।

आपको केवल "अलाव" पर क्लिक करना है।

होम लोन ब्याज़ दर और शुल्क

होम लोन पर ब्याज दर क्या है?

आमतौर पर एक प्रतिशत के रूप में व्यक्त किया जाने वाला, होम लोन ब्याज दर वह दर है जिस पर एक निर्धारित अवधि में प्रिंसिपल होम लोन राशि पर ब्याज लगाया जाता है।

टाटा कैपिटल भारत में सबसे अधिक प्रतिस्पर्धी होम लोन ब्याज दर प्रदान करता है, जो सिर्फ 7.50%. से शुरू होती है

होम लोन पर ब्याज दरें इतनी महत्वपूर्ण क्यों होती हैं?

होम लोन ब्याज दर होम लोन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। होम लोन के ब्याज की गणना से आपको उस राशि के बारे में पहले से पता चल जाता है, जिसकी आपको प्रिंसिपल होम लोन राशि के ऊपर और उसके बाद भुगतान करने की आवश्यकता होती है। यह देखते हुए कि होम लोन आमतौर पर लंबी अवधि के लोन होते हैं, जो 15 से 30 साल तक के होते हैं, तो कुल ब्याज समय के साथ काफी अधिक हो सकता है। यहां तक कि हाउसिंग लोन की ब्याज दर में मामूली अंतर भी वर्षों में महत्वपूर्ण हो सकता है। साथ ही, अवधि बढ़ने से होम लोन के ब्याज में भी बढ़ोतरी होगी। इसलिए, होम लोन ब्याज दर की जांच और तुलना करना और भारत में स्पर्धात्मक होम लोन ब्याज दर की पेशकश करने वाला ऋणदाता चुनना महत्वपूर्ण है।

आपकी होम लोन ब्याज दर की गणना कैसे की जाती है?

हाउसिंग लोन ब्याज की गणना आमतौर पर प्रत्येक दिन के अंत में बकाया प्रिंसिपल राशि पर की जाती है और मासिक आधार पर शुल्क वसूला जाता है। ऋणदायी संस्था प्रति दिन बकाया लोन राशि लेती है और उसे उस नवीनतम होम लोन ब्याज दर से गुणा करती है जिसे हाउसिंग लोन ब्याज की गणना के लिए निर्धारित गया है।

हाउसिंग लोन की दरें स्थिर नहीं रहती हैं। मुख्य रूप से आधार ऋण दर और एमसीएलआर शामिल हों ऐसी रिज़र्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) द्वारा निर्धारित की गई मौद्रिक पॉलिसी के अनुसार वे परिवर्तन के अधीन होती हैं। आपकी होम लोन ब्याज दर की गणना आपकी क्रेडिट रेटिंग के आधार पर भी की जाती है और कोई संस्था कितना ऋण दे सकती है इसके आधार पर यह ऋणदाताओं में भिन्न होती हैं।

एमसीएलआर क्‍या हैं?

2016, में आरबीआई ने ऋण के लिए मार्जिनल कॉस्ट ऑफ फंड्स-बेस्ड लेंडिंग रेट (एमसीएलआर) नामक दिशानिर्देशों के एक नए सेट की घोषणा की थी। एमसीएलआर अप्रैल 1, 2016 के बाद दिए गए सभी लोन के लिए पेश किया गया था और पुराने आधार दर शासन के साथ बदल दिया गया है।

यदि आपने इस तिथि से पहले होम लोन लिया है, तो कुछ रूपांतरण शुल्क लागू होने के कारण आप अपनी लोन की लागत के आधार पर एमसीएलआर पर स्विच कर सकते हैं।

फिक्स्ड और फ्लोटिंग होम लोन ब्याज दरें क्या हैं?

ऋणदाता मुख्य रूप से दो प्रकार की होम लोन ब्याज़ दरें प्रदान करते हैं - फिक्स्ड और फ्लोटिंग ब्याज दर।

फिक्स्ड ब्याज दर वह है जिसमें होम लोन पर ली जाने वाली ब्याज दर कभी नहीं बदलेगी, चाहे बाजार का परिदृश्य कितना भी अस्थिर क्यों न हो। जिन लोगों ने फिक्स्ड दर के जरिए अपना होम लोन चुकाने का विकल्प चुना है उन्हें बीच में किसी अप्रत्याशित परिवर्तन के बिना पूर्व-निर्धारित अवधि में समान रूप से विभाजित निर्धारित मासिक किस्तों का भुगतान करने की आवश्यकता होती है।

वैकल्पिक रूप से, फ्लोटिंग होम लोन ब्याज दर वह है जो अस्थिर है और बाजार के परिदृश्य के अनुसार बदलता रहता है। चूंकि फ्लोटिंग ब्याज दर ऋणदाताओं द्वारा दी जाने वाली फ्लोटिंग या परिवर्तनशील आधार दर पर निर्भर होती है, यह स्वचालित रूप से और आधार दर में बदलाव के अनुपात में संशोधित हो जाती है।

रेपो रेट लिंक्ड लेंडिंग दर क्या है?

रेपो रेट वह दर होती है जिस पर आरबीआई अन्य वाणिज्यिक बैंकों को पैसा उधार दती है। इस दर की समीक्षा हर दो महीने में एक बार की जाती है। रेपो-रेट लिंक्ड लेंडिंग रेट, रेपो रेट के अनुसार निर्धारित की गई ब्याज दर होती है और रेपो रेट में परिवर्तन होने पर सीधे प्रभावित होती है। उदाहरण के लिए, यदि आरबीआई रेपो रेट को कम करती है, तो उधारकर्ताओं के लिए होम लोन ब्याज़ दरें भी कम हो जाएंगी।

रेपो-रेट लिंक्ड लेंडिंग रेट्स के तहत, होम लोन उधारकर्ता ऋणदायी दर तय करने के लिए संबंधित ऋणदायी संस्था पर निर्भर नहीं होता है। रेपो रेट के साथ अनुरूप होने के लिए यह (परिवर्तन के बाद वाले महीने के पहले दिन) स्वचालित रूप से अपडेट होती है।

वेतनभोगी और स्व नियोजित ब्याज दर तालिका

 

होम लोन:

ग्राहक प्रोफ़ाइल लोन स्लैब आरओआई* (%) ROI* (%)
वैतनिक कोई भी राशि 8.50% से आगे
 स्व नियोजित कोई भी राशि 8.75% से आगे

                               

गृह इक्विटी

ग्राहक प्रोफ़ाइल लोन स्लैब आरओआई* (%) ROI* (%)
वेतनभोगी/स्व नियोजित कोई भी राशि 10.10% से आगे

 

 

*अंतिम आरओआई क्रेडिट जाँच, संपत्ति और अन्य मापदंडों के आधार पर भिन्न हो सकता है

अपनी लागतों को कम करने के लिए सही होम लोन ब्याज दर प्राप्त करने हेतु बाजार की खोज करना आवश्यक है। अलग-अलग खरीदारों, संयुक्त खरीदारों, महिलाओं, आदि के लिए उपलब्ध विभिन्न होम लोन योजनाओं के आधार पर हाउसिंग लोन ब्याज़ दर अलग-अलग होगा। जिस राशि को आप लोन प्रिंसिपल के रूप में उधार लेने के पात्र हैं उसके बारे में स्पष्ट कल्पना प्राप्त करने के लिए आप एक निःशुल्क ऑनलाइन होम लोन ईएमआई कैलकुलेटर का उपयोग कर सकते हैं

होम लोन शुल्क

यदि आप अपने सपनों के घर की खरीद के लिए होम लोन लेने का विचार कर रहे हैं, तो आपको मूल शब्दावली और शब्दों से अवगत होना पड़ेगा। इसके अतिरिक्त, आपको होम लोन के लिए आवेदन करने से पहले प्रोसेसिंग शुल्क, होम लोन पूर्व भुगतान शुल्क, कानूनी शुल्क आदि जैसे विभिन्न लोन शुल्कों के बारे में भी जानना होगा।

प्रक्रिया शुल्क

प्रोसेसिंग शुल्क टाटा कैपिटल द्वारा उधारकर्ताओं के होम लोन आवेदनों के प्रोसेसिंग के लिए उन पर लगाए गए एक बार के शुल्क को संदर्भित करता है। टाटा कैपिटल पर प्रोसेसिंग शुल्क ऋण राशि के 0.5% से + जीएसटी की दर से वसूला जाता है।

फोरक्लोजर

फोरक्लोज़र का मतलब है कि किस्तों के बजाय एकमुश्त राशि में अपने लोन की ईएमआई चुकाना। एक उधारकर्ता अपनी निर्धारित समय सीमा के अंत से पहले अपनी ऋण राशि की चुकौती कर लेता है। ऐसे मामलों में, होम लोन फोरक्लोज़र या प्रीक्लोज़र शुल्क टाटा कैपिटल द्वारा अपने कार्यकाल के अंत से पहले ऋण चुकाने के लिए जुर्माने के रूप में लगाया जाएगा। जब आप समय से पहले अपने स्वयं के पैसों से अपने होम लोन का भुगतान करते हैं तो कोई शुल्क नहीं लगाया जाएगा। हालांकि, यदि आप किसी और के पैसों का उपयोग करके समय से पहले अपने होम लोन का भुगतान करते हैं, तो टाटा कैपिटल होम लोन फोरक्लोज़र शुल्क लेगा।

विलंबित EMI भुगतान

आपके होम लोन की मासिक किस्तों या ईएमआई को चूकने या डिफ़ॉल्टिंग करने से ईएमआई में देरी होगी। ऐसा आमतौर पर आपके ऋण खाते में पैसों की अपर्याप्तता के कारण होता है। ईएमआई भुगतान में देरी होने से पेनल्टी लग सकती है और इससे आपके क्रेडिट रेटिंग में गंभीर रूप से बाधा आएगी, जिसके कारण अन्य ऋणदायी संस्थानों के साथ होने वाले आपके सभी भावि लेन-देनों और ऋणों में परेशानी होगी।

EMI भुगतानों में देरी होने के मामले में, विलंब की अवधि के लिए प्रचलित ब्याज दर पर 2% की दर से एक शुल्क लागू होगा।

ऐसे मामले हो सकते हैं जहां प्रिंसिपल होम लोन की पूरी राशि को कम होम लोन ब्याज़ दर देने वाली दूसरी बैंक में स्थानांतरित किया जाता है। इस तरह के बैलेंस ट्रांसफर के मामले में होम लोन ट्रांसफर चार्जेज लगाए जाएँगे।

 

वसूली अभिकरण

टाटा कैपिटल ऐसे संगठनों को नियुक्त कर सकता है जो वास्तविक आँकड़ों पर व्यवसायों और व्यक्तियों द्वारा बकाया भुगतानों को आगे बढ़ाने में विशेषज्ञ हों। ऋण लेने वाले उस पार्टी की ओर से काम करते हैं जिस पर पैसा बकाया है और बदले में एक शुल्क लिया जाता है, जो आमतौर पर कुल बकाया राशि का एक प्रतिशत होता है; यह शुल्क आमतौर पर वास्तविक आँकड़ों पर लिया जाता है।

क़ानूनी शुल्क

एक बार जब कोई उधारकर्ता संबंधित संपत्ति के आवश्यक दस्तावेज़ को वास्तविक आँकड़ों पर लोन मंजूरी के लिए सबमिट करता है, तो इन दस्तावेज़ों को कानूनी सत्यापन के लिए भेजा जाता है। यह सत्यापन एक शुल्क लेकर किया जाता है जो ऋणदायी संस्था के आधार पर भिन्न हो सकता है और आमतौर पर वास्तविक आँकड़ों पर लिया जाता है।

अन्य मापदंड

PDC शुल्क, लोन रद्दीकरण शुल्क, चेक अस्वीकृति शुल्क (चेक बाउंस), इलेक्ट्रॉनिक क्लीयरेंस सर्विस अस्वीकृति (ईसीएस) शुल्क, PDC स्वैपिंग शुल्क, खाता रखरखाव शुल्क, मामला-दर-मामला के आधार पर, उपरोक्त उल्लिखित के अलावा सीईआरएसएआई शुल्क भी लागू हो सकते हैं।

विविध प्रभार

प्रक्रिया शुल्क

ऋण राशि के 0.5% के बाद + GST

विस्तृत सामान्य प्रश्न

हमारे ब्याज दर 8.50% से शुरू होते हैं और उच्च रूप से प्रतिस्पर्धात्मक हैं। हम महिला लाभार्थियों के लिए रिआयती ब्याज दरों का प्रस्ताव रखते हैं। अतिरिक्त रूप से, हम PMAY अनुदान के अंतर्गत न्यून आय समूहों के लिए वित्तीय छूट वाले होम लोन प्रदान करते है।

निम्नलिखित कारक हैं जो आपके आवास ऋण की ब्याज दर को प्रभावित करते हैं -

  • एमसीएलआर या फंड्स का सीमांत लागत आधारित उधार दर - न्यूनतम दर जिस पर ऋणदाता आपको लोन दे सकता है

  • ब्याज का प्रकार - चाहे आप नियत, फ्लोटिंग या मिश्रित ब्याज दर चुनें

  • लोन-टू-वैल्यू (LTV) अनुपात - संपत्ति की क़ीमत का प्रतिशत जिसे लोन का उपयोग करके फाइनेंस किया जा सकता है

  • सिबिल या क्रेडिट स्कोर - जितना अधिक सिबिल स्कोर उतना कम ब्याज दर

  • प्रॉपर्टी लोकेशन - जितना आकर्षक प्रॉपर्टी उतना कम ब्याज दर लागू

  • नौकरी प्रोफाइल - स्थायी आय वाले लोगों को कम ब्याज दर लगता है

  • लोन अवधि - कम लोन अवधि में कम ब्याज दर लगता है

फोरक्लोज़र का मतलब है कि समान मासिक किस्त या ईएमआई बनाने के बजाय एक ही भुगतान में अपनी पूरी होम लोन राशि चुकाना। होम लोन फोरक्लोज़र के लिए दंड के रूप में लोन लेंडर से निश्चित शुल्क लेते हैं। जब होम लोन ब्याज दर निश्चित होता है तब फोरक्लोज़र शुल्क आमतौर पर लगाया जाता है एवं स्रोतों का उपयोग करके जो आवेदक नहीं हैं उनसे पूर्व-भुगतान किया जाता है। ऐसी परिस्थितियों में, बकाया मूल राशि और कर का प्रतिशत फोरक्लोज़र के रूप में लगाया जाता है।

होम लोन के अंतर्गत प्रोसेसिंग शुल्क होम लोन एप्लिकेशन के प्रोसेसिंग के समय पर लेंडर द्वारा एक-बार शुल्क लिया जाता है। राशि लेंडर से लेंडर भिन्न हो सकती ही। आम तौर पर, प्रोसेसिंग शुल्क नॉन-रिफंडेबल होता है, भले ही होम लोन मंजूर हो या न हो।

 

होम लोन प्रोसेसिंग शुल्क होम लोन एप्लिकेशन के प्रोसेसिंग के समय पर बैंकों और एनबीएफसीज् द्वारा एक-बार ली जाने वाली राशि है। किसी भी परिस्थिति में, भले ही आपका होम लोन मंजूर हो या न हो, प्रोसेसिंग शुल्क वापस नहीं किया जा सकता है।

हां, होम लोन ब्याज दरें न केवल विभिन्न बैंकों और लेंडिंग संस्थाओं में अलग-अलग होती हैं बल्कि शहरों के बीच भी अलग-अलग होती है यह विभाजन एवं स्थान के जोखिम पर निर्भर करता है।

यदि आपके होम लोन की ब्याज दर निश्चित हो जाती है, तो आपका ईएमआई बाजार के उतार-चढ़ाव से अप्रभावित रहेगा। हालांकि, यदि आपके होम लोन की ब्याज दर अस्थायी है, तो यह बाजार के उतार-चढ़ाव के साथ बढ़ेगा और कम हो जाएगा। तो, जब ब्याज दर बढ़ जाता है, तब आपकी ईएमआई की राशि भी बढ़ जाएगी और जब ब्याज दर कम हो जाएगा, तब आपकी ईमआई की राशि भी कम हो जाएगी।

अपने लिए सही ऋण खोजें

हमें क्यों चुनें

अनुकूलित उत्पाद
न्यूनतम दस्तावेज़ीकरण
आसान आवेदन प्रक्रिया
विक्री के बाद सर्वोत्तम सेवा

रिटेल कंज्यूमर की राय